Download SOCIAL STATUS & QUOTES

1 comments:

  1. बेशक ताश के पतों मे हमने लाखो गवा दीये पररुतबा तो आज भी इतना कायम हे की बेगम हमारे इशारो पे अपनि चाल चलति हे..

    ReplyDelete